14 July 2024

aawaj uttarakhand

सच की आवाज़

उत्तराखण्ड ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 के समापन समारोह में निवेशकों को संबोधित करते मंत्री गणेश जोशी।

कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने FRI देहरादून में आयोजित उत्तराखण्ड ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट 2023 के समापन समारोह में निवेशकों को संबोधित करते हुए कहा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कुशल निर्देश / नेतृत्व में भारतवर्ष के साथ-साथ उत्तराखण्ड राज्य में भी औद्यानिकी के क्षेत्र में निवेश को बढ़ावा दिया जा रहा है। प्रधानमंत्री के कुशल नेतृत्व में भारतवर्ष में विभिन्न सैक्टरों में वृहद स्तर पर निवेश से चहुमुखी विकास करने के लिए विभिन्न महत्वाकांक्षी योजनाओं के संचालन के साथ-साथ निवेश के लिए प्रक्रियाओं को सरल बनाने हेतु नई-नई नीतियाँ बनायी जा रही है। उन्होंने कहा प्रदेश में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृव में उत्तराखण्ड चहुमुखी विकास की ओर अग्रसर है तथा उनकी प्रेरणा से इस कार्यक्रम का आयोजन सम्भव हो सका है। उन्होंने कहा मुख्यमंत्री धामी द्वारा उत्तराखण्ड में अधिक से अधिक निवेशकों को आकर्षित करते हुए इस कार्यक्रम को सफल बनाने हेतु विभिन्न देशों में रोड शो किया गया।

उन्होंने कहा कृषकों की आय में गुणात्मक वृद्धि एवं उत्तराखण्ड प्रदेश को स्वावलम्बी बनाने के प्रधानमंत्री और प्रदेश में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के स्वप्न को पूर्ण करने में औद्यानिकी की अहम भूमिका है। उत्तराखण्ड राज्य की भौगोलिक परिस्थितियाँ एवं कृषि जलवायु विभिन्न औद्यानिक फसलों यथाः फल, सब्जी, मसाला, पुष्प, मशरूम व शहद के उत्पादन हेतु अत्यधिक अनुकूल है। राज्य के तराई / भावर क्षेत्रोमें खाद्यान्न उत्पादन की दृष्टि से महत्वपूर्ण है, वही राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में औद्यानिकी के विकास की अपार सम्भवनाएँ विद्यमान है। प्रदेश सरकार द्वारा मिलेट फसलों यथा- मण्डुवा तथा साँवा को प्रोत्साहित करने हेतु राज्य मिलेट मिशन का वर्ष 2023 से 2027 तक संचालन किया जा रहा है। इसके तहत इन फसलों का उत्पादन, प्रोत्साहन, विपणन एवं प्रसंस्करण पर विशेष कार्य किया जा रहा है।
उन्होंने कहा जैविक खेती के अन्तर्गत अधिक से अधिक क्षेत्रफल आच्छादित करने के लिए भारत सरकार के सहयोग से राज्य मे परम्परागत कृषि विकास योजना तथा नमामि गंगे योजना का संचालन किया जा रहा है। मिशन एप्पल रू0 808.79 करोड़ की लागत से 5000 हैक्टेयर क्षेत्रफल आच्छादित करते हुए सेब के वर्तमान व्यवसाय रू0 200 करोड़ को बढ़ाकर रू0 2000 करोड़ किये जाने के लक्ष्य से सेब की अतिसघन बागवानी हेतु मिशन एप्पल योजनान्तर्गत 60 प्रतिशत राज सहायता प्रदान की जा रही है। सगन्ध सैक्टर में निवेश को आकर्षित करने के लिए जनपद ऊधमसिहंनगर के काशीपुर में अरोमा पार्क की स्थापना वर्ष 2021 में की गई है। जिसमें 54 औद्योगिक भूखंडो में से वर्तमान में 31 परफयूमरी और एरोमा उद्योगो ने इकाइयों की स्थापना शरु कर दी है। मंत्री ने प्रसन्नता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा इस कार्यक्रम के दौरान कृषि, औद्यानिकी व रेखीय गतिविधियों के क्षेत्र में निवेशकों द्वारा रू0 1425 करोड़ से अधिक MoU निष्पादित किये गये हैं, जिसमें सगन्ध पादप के क्षेत्र में रू0 1090 करोड़ के MoU, औद्यानिकी के क्षेत्र में रू0 235 करोड़ के MoU तथा कृषि के क्षेत्र में रू0 100 करोड़ के MoU सम्मिलित हैं।


मंत्री गणेश जोशी ने निवेशकों से आह्वान करते हुए कहा प्रदेश को प्राप्त प्रकृति के वरदान भारत सरकार व उत्तराखण्ड सरकार की डबल इंजन के साथ संचालित आकर्शक योजनाओं तथा उपलब्ध मानव संसाधन का लाभ प्राप्त कर वृहद स्तर पर निवेश से प्रदेश के विकास में अपना सहयोग प्रदान करें, जिससे वह स्वयं आर्थिक लाभ प्राप्त करने के साथ-साथ प्रदेश में बेरोजगारी एवं पलायन की समस्या के समाधान में भी अहम भूमिका निभा सकेगें। उन्होंने निवेशकों को यह भी आश्वस्त किया कि मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के नेतृत्व में प्रदेश सरकार द्वारा निवेश के लिए शांत व अनुकूल वातावरण प्रदान करते हुए हर सम्भव सहयोग प्रदान किया जायेगा। उन्होंने कहा उत्तराखण्ड ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट-2023 निश्चित ही यह समिट उत्तराखण्ड में रोजगार सृजित करने के अवसर प्रदान करेगा। जिससे प्रदेश की अर्थव्यवस्था भी सुदृढ़ होगी।

You may have missed