21 April 2024

aawaj uttarakhand

सच की आवाज़

भगवान केदारनाथ की पंचमुखी विग्रह देवडोली शीतकालीन गद्दी स्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ पहुंची।

श्री केदारनाथ धाम के कपाट भैया दूज15 नवंबर को बंद हो गये भगवान केदारनाथ की विग्रह डोली श्रद्धालुओं को दर्शन देते हुए बुद्धवार प्रथम पड़ाव रामपूर प्रवास के पश्चात देवडोली कल बृहस्पतिवार देर शाम दूसरे पड़ाव श्री विश्वनाथ मंदिर गुप्तकाशी पहुंची थी आज प्रात: श्री विश्वनाथ मंदिर गुप्तकाशी से पंचमुखी देव डोली शीतकालीन गद्दी स्थल श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ में विराजमान हो गयी।

पंचमुखी डोली के श्री औंकारेश्वर मंदिर उखीमठ पहुंचने पर श्री बदरीनाथ- केदारनाथ मंदिर समिति तथा स्थानीय श्रद्धालुओं द्वारा भब्य स्वागत किया गया। हजारों श्रद्धालु पंचमुखी डोली दर्शन को श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ पहुंचे। कई श्रद्धालुजन देवडोली के साथ केदारनाथ धाम से विभिन्न पड़ावो से पैदल यात्रा कर उखीमठ पहुंचे।
आज इस अवसर पर केदारनाथ विधायक शैला रानी रावत पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष चंडी प्रसाद भट् कार्याधिकारी आरसी तिवारी,मुख्य प्रशासनिक अधिकारी राजकुमार नौटियाल, पुजारी शिवलिंग, पुजारी शिवशंकर, केदार सभा अध्यक्ष राजकुमार तिवारी, अध्यक्ष पंचगाई हकहकूक धारी धर्मेंद्र तिवारी, वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी यदुवीर पुष्पवान एवं डीएस भुजवाण, प्रशासनिक अधिकारी रमेश नेगी डोली प्रभारी प्रदीप सेमवाल,जेई विपिन कुमार विपिन तिवारी, प्रबंधक भगवती प्रसाद सेमवाल, कुलदीप धर्म्वाण पुष्कर रावत विदेश शैव आदि मौजूद रहे।
श्री बदरीनाथ- केदारनाथ मंदिर समिति मीडिया प्रभारी डा. हरीश गौड़ ने बताया कि आज शुक्रवार को भगवान केदारनाथ की पंचमुखी डोली के श्री ओंकारेश्वर मंदिर उखीमठ पहुंचने के पश्चात भगवान केदारनाथ की शीतकालीन पूजायें शुरू हो गयी है। तथा इस वर्ष 2023 की श्री केदारनाथ यात्रा का समापन भी हो गया है।